मंगलवार, 16 अगस्त 2016

जब फूट-फूट कर रोए सोनू निगम

भिखारी के भेष मैं सोनू निगम

सोनू निगम एक ईमानदार और सरल हृदय वाला व्यक्तित्व है. वह जहां दूसरों के दर्द को समझते हैं वहीं, लोगों की मदद करने में भी पीछे नहीं रहते हैं. यही नहीं, युवाओं के लिए सोनू निगम एक स्टाइल आईकॉन भी हैं और अपने फैंस को हमेशा अपने न्यू लुक और हेयरस्टाइल से चौंकाते रहते हैं.

ट्रांसजेंडर म्यूजिक ग्रुप लॉन करने वाले पहले सिंगर

सोनू निगम ने वाई फिल्म्स ट्रांसजेंडर म्यूजिक ग्रुप ‘6 पैक बैंड’ को लॉन्च किया है, जिसमें बैंड के एक सॉन्ग को सोनू ने अपनी आवाज भी दी है. इस एलबम में 6 गाने हैं, जो भारत की अलग-अलग कम्यूनिटी के 6 ट्रांसजेंडर्स ने गाए हैं. इनमें सोनू निगम और अनुष्का शर्मा ने मिलकर अपनी आवाज दी है.

सोनू निगम ने दर्द में गाया था ‘सरबजीत’ का दर्द

सोनू निगम के द्वारा गाया फिल्म ‘सरबजीत’ का गाना ‘दर्द..’ एक ऐसे समय में रिकॉर्ड किया, जब वह मुश्किल से चल पा रहे थे. दरअसल, उन्होंने इस सॉन्ग की रिकॉर्डिंग से 10 दिन पहले ही अपने घुटने की सर्जरी कराई थी. उनके मुताबिक ये खूबसूरत गीत ‘दर्द’ एक दर्द भरे व्यक्ति ने ही गाया था.

भिखारी के भेष में फैंस को किया हैरान

हाल ही में सोनू निगम ने अपने फैंस को तब हैरान कर दिया, जब वह मुंबई की सड़कों पर लगातार तीन घंटे तक भिखारी के भेष में गाना गाते रहे और उन्हें कोई पहचान ही न सका. इस दौरान एक लड़के ने कुछ पैसे उनके हाथ में थमाए और उनसे खाना खाने को कहा. सोनू के मुताबिक ‘‘ये अनुभव बेहद अभिभूत कर देने वाला था. इससे मुझे काफी कुछ हासिल हुआ और लगा कि जिंदगी की सबसे बड़ी सौगात मिल गई हो.’’

सामाजिक कार्यों में रहते हैं सक्रिय

गायक सोनू निगम सोशल वर्क में भी काफी एक्टिव रहते हैं और अपनी सक्रिय भूमिका निभाते हैं. वह कई संगठनों से जुड़े हैं, जिनमें कैंसर रोगियों, कुष्ठ रोगियों और नेत्रहीनों के लिए चलाई जाने वाली संस्था प्रमुख है. इसके अलावा सोनू निगम ने कारगिल युद्ध भूकंप पीड़ितों व बच्चों के लिए चलाई जाने वाली संस्था ‘क्रेयॉन’ के लिए भी योगदान दिया और इस संस्था के एक बच्चे को वह स्पॉन्सर भी कर रहे हैं.

जब दूसरे गायकों से गवाए सोनू के गाने

एक इंटरव्यू के दौरान सोनू निगम ने कहा था ‘‘मैं अपने पिता का सपना हूं और जो भी पैसा मैं कमाता हूं वह अपने पिता को देता हूं.वह इसे सही जगह इन्वेस्ट करते हैं और मेरे जीवन को सुरक्षित रखते हैं. वह कहते हैं कि मैं जब चाहूं अपने काम रोक सकता हूं.’’ सोनू बताते हैं कि एक बार जब मैंने अपने संघर्ष के दिनों में टी-सिरीज के स्टूडियो में दो गाने गाए, उनसे मुझे बड़ी उम्मीद थी, लेकिन जब एक महीने बाद मैं उनके ऑफिस गया तो, मुझे मालूम चला कि ये गाने एस.पी.बालासुब्रहमणयम और मनुचित्रा को दे दिए गए हैं तो, मैं टी-सिरीज के ऑफिस से निकल कर फूट फूटकर रोने लगा. मैं पहले ही बहुत हताश था. थक गया था मैं धक्के खा-खाकर, लोगों की गालियां सुन-सुनकर और उन दिनों में मेल सिंगर्स को सबसे ज्यादा स्ट्रगल करना पड़ता था.

जिंदगी में मेरे कई अफेयर रहे सोनू निगम के

सोनू निगम के मुताबिक मैं अपनी जिंदगी में कई अफेयर और रिलेशनशिप में रहा हूं. जब मेरे पिता मुझे अपने साथ किसी टूर पर और किसी कॉन्सर्ट में ले जाते थे तो, वहां कुछ लड़कियों से मैं जरूर मिलता था. हर जगह पर एक लड़की हुआ करती थी. हालांकि सोनू निगम ने वर्ष 2002 में अपने गर्लफ्रेंड मधुरिमा बेनर्जी से शादी कर ली. उनका एक बेटा निवान है. निवान को भी सोनू की ही तरह गायकी का शौक है. धनुष के गाए गीत ‘व्हाई दिस कोलावरी डी..’ के लिटिल वर्जन को गाने के बाद निवान को खूब पसंद किया गया.

सोनू निगम गाने वाले थे ‘एक लड़की को देखा तो..’

‘1942 ए लव स्टोरी’ के मशहूर गीत ‘एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा..’ को पहले सोनू निगम ही गाने वाले थे. दरअसल, इस गाने की रिकॉर्डिंग करने के लिए कुमार शानू पहुंचने में कुछ मिनट लेट हो गए और फिल्म निर्माता ने आर.डी.बर्मन को ये गीत सोनू निगम को ऑफर करने को कहा, लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था सोनू निगम के लिए. अंतत: ये गीत कुमार शानू की आवाज में ही रिकॉर्ड किया गया.

...डिम्पल सिरोही...

2 टिप्‍पणियां:

  1. आपकी लिखी रचना "पांच लिंकों का आनन्द में" गुरुवार 18 अगस्त 2016 को लिंक की गई है.... http://halchalwith5links.blogspot.in पर आप भी आइएगा....धन्यवाद!

    उत्तर देंहटाएं
  2. सोनू निगम के बारे मे अच्छी जानकारी

    उत्तर देंहटाएं